Apan Jayal

जायल में आपका हार्दिक स्‍वागत दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं


रविवार, 19 मई 2013

तीन साल बाद ऐसी होगी संजय दत्त की जिंदगी!


संजय दत्त को अब तीन साल के लिए भूल जाइए। 1993 मुंबई बम धमाका केस में अवैध हथियार रखने के आरोप में वो जेल जा चुके हैं। फिलहाल तो वो अखबारों और न्यूज चैनलों की सुर्खियों में हैं। सोशल नेटवर्किंग साइट पर भी चर्चा में हैं। लेकिन तीन सालों में बहुत कुछ बदल सकता है। हमारी याददाश्त बड़ी कमजोर होती है। जब तक संजय पूरी हो चुकी फिल्में रिलीज होंगी तब तक वो हमें याद आते रहेंगे लेकिन फिर धीरे-धीरे वो आखिरी पन्नों की खबर बन जाएंगे और फिर दो सालों बाद शायद खबरों से भी दूर हो जाएं। तीन साल बाद उनकी जिंदगी कैसी होगी उससे पहले जानते हैं उनकी अभी की जिंदगी कैसी है और जेल में रहते हुए उनका वक्त कैसा बीतने वाला है।

आईपीएल हावी हुआ संजय के गम पर!

अभी आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग की खबरों ने ही संजू बाबा की विदाई को फीका कर दिया। सभी चैनल कंफ्यूज दिखाई दिए कि किस बात पर शोर किया जाए। संजय के जेल जाने पर या फिर शिल्पा शेट्टी की आईपीएल टीम राजस्थान रॉयल्स के खिलाड़ियों के काले कारनामों पर। और आखिर में जीत हुई स्पॉट फिक्सिंग की। संजय दत्त की विदाई हाशिए पर चली गई। यहां तक की जेल जाने से पहले उनसे आखिरी बार मिलने और उनका जेल तक साथ देने के लिए भी कोई बड़ा सितारा नहीं पहुंचा। पहुंचे तो बस कुछ गिनेचुने दोस्त और परिवार के सदस्य। बाकि शायद शिल्पा की टीम की खबरों में उलझ गए थे। 

जेल में ‘भगवान भरोसे’ संजू बाबा!

संजय दत्त के लिए जेल में एक महीने तक घर का खाना आएगा। उसके बाद उन्हें जेल का ही खाना मिलेगा। खास बात ये है कि इस बार उन्हें जेल में बावर्ची का काम करना होगा जिसके लिए उन्हें 25 रुपए दिन पगार भी मिलेगी। संजय दत्त की मांग पर टाडा कोर्ट ने उन्हें अपने साथ घर का गद्दा, तकिया, हनुमान चालीसा, रामायण, भगवद्गीता, टूथपेस्ट, शैम्पू, हवाई चप्पल, कुर्ता-पायजामा, मच्छरों को दूर रखनेवाली अगरबत्ती और एक पंखा ले जाने की इजाजत दी है। उनकी हनुमान चालीसा, रामायण, और भगवद्गीता की मांग को देखकर लगता है कि जेल में रहकर संजय अपना ध्यान भक्ति में लगाने वाले हैं। 

2013 में संजय का करियर खत्म! 

संजय जिन फिल्मों की शूटिंग पूरी कर गए हैं वो उनके जेल में रहते हुए ही रिलीज होंगी। इनमें हम हैं राही कार के, पुलिसगिरी, जंजीर, उंगली और पीके जैसी फिल्में शामिल हैं। अजीब इत्तेफाक है कि पुलिस की गिरफ्त में संजू बाबा हम हैं राही कार में खुद पुलिसवाले का किरदार निभा रहे हैं। हालांकि फिल्म में उनका रोल ज्यादा बड़ा नहीं है। ये फिल्म 24 मई को रिलीज हो रही है। वहीं रिमेक जंजीर में संजय शेरखान के रोल में नजर आएंगे जिसे ओरिजनल जंजीर में महान अभिनेता प्राण ने निभाया था। ये फिल्म जून के आखिरी में या जुलाई में रिलीज करने की योजना है। प्रोड्यूसर टीपी अग्रवाल की फिल्म पुलिसगिरी में भी संजय पुलिस वाले के रोल में हैं। ये फिल्म 25 जुलाई को रिलीज हो सकती है। इमरान हाशमी और कंगना राणावत स्टारर फिल्म उंगली में भी संजय नजर आएंगे। करन जौहर इस फिल्म के प्रोड्यूसर हैं और इसे रेंसिल डिसिल्वा ने डायरेक्ट किया है। इस फिल्म की रिलीज डेट 6 सितम्बर तय की गई है। आमिर खान स्टारर राजकुमार हीरानी की फिल्म पीके एकमात्र ऐसी फिल्म है जो अगले साल रिलीज होगी। हालांकि इस फिल्म में भी संजय का गेस्ट अपीयरेंस है। यानि संजय की लगभग सभी प्रमुख फिल्में 2013 में ही रिलीज हो जाएंगी और उसके बाद कम से कम दो साल तक संजय बड़े पर्दे पर नजर नहीं आएंगे। जेल से रिहा होने के बाद उन्हें कितनी फिल्में मिलेंगी ये तो वक्त ही बताएगा।